Fraud Done By NGO SOM Foundation

Complaint Date:
By:
Category: Scam Contests

Company Name:

महोदय,
निवेदन इस प्रकार है lमैं ये ज्ञात करना चाहता हु की सोम फाउंडेशन जो यूपिका के यहा रजिस्टर्ड ngo है l वो बिलकुल फ्रॉड ngo है न तो उसका कोई ऑफिस है न कोई पक्का पता इस ngo जिसकी संचालिका नमिता शर्मा , अंजली और सोम है बिकुल फ्रॉड है नमिता शर्मा ने मुझे फ्रॉड तरीके से अपनी ngo मैं vise chairmen बनाने के लिए पहेले एक त्यागपत्र दिखाया फिर 8 जगह हरताक्षर कराये फिर 3 दिन बाद अपने पति से बात करायी दिल्ली मैं, की आपका नाम vise chairmen मैं पड़ गया है जो की एक फ्रॉड था l इन्होने मुझे एक फाइल दी जिसमे मैं vice chairmen था और कहा यूपिका कानपुर मैं जमा कर दीजिये इन्होने अपने ऑफिस का पता भी मेरा घर का पता लिखा दिया दूसरा पता जो दिल्ली का है वह भी कोई ऑफिस नहीं है l येही नहीं ये बहुत लम्बे समय से सरकारी और आम लोगो के पैसे का गबन करती चली आ रही है l ये कोई भी सरकारी कम सिर्फ २० % से १५% मैं ही खत्म कर देती है और बाकी सरकारी पैसे का गबन कर लेती है l इस ngo और इसकी संचालिका नमिता शर्मा और अंजलि ने औरो से भी फ्रॉड किया है बुलन्दशहर मैं भी प्रतिभा चंदेल जी के 5 लाख लगाये और वापस नहीं किए सिर्फ 2.5 लाख दिए , ओ पी गोयल है उनके भी 1.5 लाख लेके नहीं दिए है शिवम् कपूर से ८ लाख लिए सिर्फ २ लाख वापस किये , ये बिलकुल फ्रॉड ngo है l ये दोनों लोग मेरे साथ गवाही देने को तयार है मेरे पास इनके बुलदशहर का पूरा हिसाब है की ट्रेनिंग और टूर मैं सिर्फ 8 लाख के करीब खर्च हुआ है बाकी २४ लाख का गबन है ऐसे ही शाजहंपुर मैं सिर्फ ३ लाख खर्च हुए l मैं सिर्फ ये चाहता हु की अगर इसका कोई पेमेंट बाकि है तो रोका जाये और इस फ्रॉड की सख्त से सख्त इन्क्वारी करायी जाये ताकि आगे से कोई ngo वाला ऐसा फ्रॉड न करे l ऐसे ngo हमारे देश के लिये दीमक की तरह है जो हमारे देश को खोकला तो कर रहे है साथ ही हमरे देश के विकास मैं भी रोड़ा है ऐसे ngo पर देश द्रोह लगना चाहिए l इसने बुलन्दशहर एक्टिविटी मैं भी जो ३२ लाख की थी सिर्फ 8 लाख लगाया बाकी सरकारी पैसे का गबन कर गयी ऐसे ही शाजहंपुर मैं भी १६ लाख का काम 3 लाख मैं ख़तम कर दिया बाकी सरकारी पैसे का गबन कर गयी ऐसी ngo की तुरंत कार्यवाही होनी चाहिए और सारे गबन करे हुए पैसे वसूले जाये ऐसे गबन एक देशद्रोह की तरह है l मैं इनके बुलंदशहर के प्रोग्राम मैं मौजूद रहा एक ट्रेनर की हसियत से मुझे वहा का पुरे खर्च का ब्यौरा पता है क्योकि नमिता शर्मा अधिकतर पेमेंट हमसे कराती थी मैं इस बात का गवाह हु की इसने सब पैसा गबन किया यहाँ तक की स्टाफ और ट्रेनर तक का पैसा गबन कर गयी l मैं जब बुलंदशहर मैं ट्रेनिंग दे रहा था तो जब महिलाए मुझसे पूछती सर मानदेय कब और कितना मिलगा तो ये मुझसे कहलवाती थी की कह दो तीन दिन का २०० रूपये मुझे बाद मैं पता चला की ३ दिन का ३०० दिया जाता है यहाँ तक की किसी किसी महिला को तो सिर्फ १०० रूपये दिए है l जब मैंने इनसे कहा की मैं आपकी शिकायत सारे अधिकारियो से करूँगा तो इन्हों ने कहा कुछ नहीं कर पाओगे मैंने बुलंदशहर मैं तो सारे अधिकारी बुलाये प्रोग्राम उनकी नजर मैं बहुत अच्छा हुआ है और सब अधिकारी मिले हुए है सब को मैंने पैसे दिए है मैं कोई अकेले गबन नहीं करती हु सारे अधिकारियो को पैसे दिए आने के लिए प्रोग्राम मैं जबकि सच ये है की सब अधिकारियो को बुलाने का श्रेय परियोजना अधिकारी को जाता है जिन्होंने सब को बुलाया और मेहनत की अपने जिले मैं जागरूकता बढाने के लिए l ऐसे ही इस ngo ने शाजहंपुर मैं किया वह तो इस ngo ने गबन करने की सारी हद ही पर कर दी इस ngo ने १६ लाख का कम सिर्फ ३ लाख मैं ही निपटा दिया पुरे १३ लाख का गबन किया न कोई प्रोग्राम सही तरीके से किया न ही मानदेय बाटा न सही ढंग का खाना खिलाया l मेरी दरखास्त है इस सोम फाउंडेशन और इसकी संचालिका पर सख्त कार्यवाही करते हुए इसका रजिस्ट्रेशन निरस्त किया जाये और इसका कोई पेमेंट न किया जाये है l मैं उम्मीद करता हु की आप इसे सज्ञान मैं लेते हुए तुरंत उचित कार्यवाही करेगे l ngo समाज सेवा के लिए बनी है न की अपने ऐसो आराम पुरे करने के लिए आज नमिता शर्मा और अंजलि कार, घर और पुरे ऐसो आराम कर रही है सरकारी पैसा गबन कर जबकि इनकी आय का कोई साधन नहीं है l मैं चाहता हूँ की मुझे पत्र व्यवहार से सूचित किया जाये की क्या कारवाही हुई या सुचना के अधिकार से l आप पर मुझे पूर्ण विश्वास है की आप तुरंत कार्यवाही करे गे मैं इसके साथ इनका बुलंदशहर का खर्चे का ब्यौरा लगा रहा हु ताकि ये पता लगे आपको ये कितनी फ्रॉड है l मैं फिर ज्ञात करना चाहता हु की इस ngo ने सब काम यूपिका पर किए है ucdn प्रोग्राम डूडा द्वारा सचालित l बस इतना विनम्र निवेदन है की जल्द से जल्द आप इसकी तफ्तीश करा कर सरकारी पैसा वसूले और हो सके तो आम लोगो का भी पैसा भी दिला दे l मैं इस विश्वाश से ये पत्र भेज रहा हु की आप ऐसे गबन करने वालो पर सख्त कार्यवाही करेंगे l

प्रार्थी
शिवम् कपूर ,
c-33 राजेंद्रनगर बरेली ,९५५७२६००००

प्रतिलिपि भेजी है
1 माननीय अखिलेश यादव जी (मुख्यमंत्री )
2 डायरेक्टर सुडा
3 मुख्य सचिव (अलोक रंजन जी )
4 प्रमुख सचिव (नगर विकास)
5 डीएम बुलंदशहर
6 डीएम शाजहंपुर
7 सीडीओ बुलंदशहर
8 सीडीओ शाजहंपुर
9 माननीय मंत्री आजम खान जी
10 विशेष सचिव अमित गुप्ता जी
11 महिला एवं बल विकास
१२ माननीय प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी जी
१३ परियोजना अधिकारी बुलंदशहर
१४ परियोजना अधिकारी शाजहंपुर
१५ चीफ एडिटर अमर उजाला
१६ चीफ एडिटर दैनिक जागरण
१७ चीफ एडिटर दैनिक भास्कर
१८ माननीय डिंपल यादव जी

बुलंदशहर के खर्च का ब्यौरा
पूरा काम था ३२ लाख का जिसमे ११ लाख की 3 दिवसीय ट्रेनिंग ५२० महिलाओ की (ucdn ) और १६० महिलाओ का गुजरात का 5 दिवसीय टूर
तिन दिवसीय ट्रेनिंग
हॉल+चेयर+डेकोरेशन १००००*3 दिन =३००००
खाना ४०*५२०*3दिन =६२४००
साउंड १०००*3दिन =३०००
प्रोजेक्टर १०००*3दिन =३०००
STYFUND (मानदेय) 200*५२०=१०४०००
TOTAL =२०२४००
बाकी ट्रेनिंग मैं न तो किसी ट्रेनर को पैसा दिया न किसी और को जिसका 5 लाख लगवाया वो भी नहीं दिया प्रतिभा चंदेल जी का सिर्फ 2.5 लाख वापस किए और बल्कि न ट्रेनर को कोई पैसा दिया न स्टाफ को बल्कि उनसे ले लिए की ये कह कर पहला चेक आते ही दे देंगे
इस कार्यशाला को अच्छा दिखने के सब अधिकारियो को बुलाया गया पर अधिकारियो के आने से गबन का अधिकार नहीं मिल जाता आज नमिता शर्मा कहती है मैंने हर अधिकारी को १०००० दिए आने के
येही नहीं परियोजना अधिकारी को ११००० के ब्रीफ़केस दिलाये
फिर २२ लाख का 5 दिन का टूर programe गुजरात का १६० महिलाओ का बुलंदशहर से
ब्यौरा
एक दिन ट्रेन मैं जाना गुजरात 3 दिन रुकना एक दिन वापस आना हो गया टूर
टिकेट जाना ५००*१६० =८००००
रुकना और खाना (ठेके पर किया ) ८००*१६०*3दिन =३८४०००
धर्मशाला मैं ८०० रुपए रोज प्रति महिला
टिकेट आना ५००*१६० =८००००
एक्स्ट्रा खर्चा ५००००
टोटल ट्रेनिंग +टूर ७९६०००
टोटल खरचा ७९६००० इसका मतलब ३२ का लाख मैं सिर्फ ७९६००० खर्च बाकी २४०४००० का गबन सरकारी पैसे का l यानि सिर्फ बुलंदशहर से २४०४००० का गबन
और प्रतिभा चंदेल जी का 2.5 लाख
पूरा गबन बुलान्द्शेर से =२४०४००० +२५०००० =२६५४००००
शाहजहांपुर खर्च का ब्यौरा
पूरा शाहजहांपुर का काम था १६ लाख का 3 दिवसीय ट्रेनिंग और 5 दिवसीय ट्रेनिंग
इसका पूरा ब्यौरा नहीं मिला पर पता लगा की काम सिर्फ 3 लाख निपटाया है
खाना दिया है 20 रूपये प्रति महिला के हिसाब से ( 4 पूरी और आलू )ट्रेनिंग के लिए हॉल या भवन एक स्कूल ले लिया ट्रेनर कोई रखा नहीं मइक और साउंड ५०० रूपये रोज टेंट और कुर्सिय ५००० रूपये रोज सारा मानदेय भी नहीं दिया बाकी सारा पैसा भी गबन कर लिया है न ट्रेनिंग दी ढंग से सब फर्जीवाडा है l

पुरे गबन का ब्यौरा
बुलन्दशहर २४०४००० का गबन
शाहजहांपुर १२००००० का गबन
ट्रेनिंग शुरु करने के नाम पर आम लोगो के पैसे का गबन
शिवम् कपूर ६०००००
प्रतिभा चंदेल २५०००० , 5 लाख लिए थे २५०००० वापस किए सिर्फ
ओ पि गोएल १०००००

पूरा गबन ४५५४००० ये संस्था अब तक इतना गबन कर चुकी है
और दुसरी ngo का भी कम निपटा कर लाखो का गबन किया है l
• जब मैंने कहा की ये पैसा वापस कर दो वरना मैं पत्र के जरिये शिकायत करूँगा और जन सुचना के अधिकार के तेहत जवाब मंगुगा तो नमिता शर्मा और अंजलि ने कहा की जन सुचना और ऐसे पत्र से मेरा कुछ नहीं होने वाला मेरे बहुत आईएस जानने वाले है और कोई सुनवाई नहीं होती है सब अधिकारी पैसा लेते है मैं आप लोगो को भुत विश्वाश से पत्र भेज रहा हु कृपया सही कार्यवाही करने की कृपा करे l
• मैं आम आदमी हु इसलिए एक आम आदमी की भाषा मैं आपको पत्र लिख रहा कोई गलती हो तो शमा प्रार्थी हु

Fraud Done By NGO SOM Foundation
0 votes, 0.00 avg. rating (0% score)

Leave a Reply

  • (will not be published)

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>


9 − = six